ट्रैफिक के नियम – Traffic Rules in Hindi bitcoin4buying

क्या आपने अभी अभी गाड़ी चलानी सीखी है या फिर पहले से जानते हैं तो भी आपको यातायात के नियम (Traffic rules in hindi) के बारे में जरूर जानकारी रखनी चाहिए.

गाड़ी चलाते समय सबसे पहली चीज जो ध्यान रखने योग्य होती है, वह है वाहन चालकों के लिए बने नये ट्रैफिक नियम. इन नियमों के आधार पर ही उन्हें गाड़ी चलानी चाहिए.

भारत में आरटीओ विभाग ने ट्रैफिक के नये नियमों की सूची जारी की है जिसमें यह साफ साफ दिखाई दे रहा है की अब नियमों का उल्लंघन करने वालों की जेब टाइट होने वाली है . 

New Traffic Rule : साल 2019 के सितंबर माह भारत मे ट्रैफिक नियमों काफी ज्यादा बदलाव हुआ था. इन नये ट्रैफिक नियमों के अनुसार जो भी इन नियमों का उल्लंघन करता है तो उस स्थिति में उनसे वित्तीय चार्ज वसूला जाएगा जो काफी ज्यादा निर्धारित किया गया है.

हर दिन बढ़ते सड़क हादसों को देख, उन्हें रोकने के लिए इन नए नियमों का ऐलान किया गया है साथ ही इन नियमों की सख्ती से पालन करवाने के भी प्रयास करवाये जा रहे है. हालांकि इस प्रकार के कठोर कदम नहीं उठाये जा रहे है जैसे उठाए जाने चाहिए. 

नये ट्रैफिक नियमों मे अपडेट 

भारत में यातायात नियमों में संशोधन भारतीय यातायात नियम अधिनियम 2019 के अनुसार हुए है जो 1 सितंबर 2019 को लागू हुआ था. अगर कोई मोटर कंपनी मानव की क्षमता से कमतर इंजन बनाती है तो उस कंपनी पर 500 करोड़ के जुर्माने का प्रावधान है.

इतना ही इन नियमों मे से कुछ नियम तो कंपनी के अलावा वाहन चालकों पर भी लागू होंगे. इन नियमों के तहत अगर वे यातायात नियमों को तोडते है तो उन भी ज्यादा जुर्माना लगाया जाएगा जो की पूर्व से भी काफी ज्यादा है. 

सडक सुरक्षा अधिनियम 2020

नये संसोधन इस प्रकार के हैं:

  • इन नये नियमों के अनुसार अगर कोई ट्रेफिक नियम फोलो नही करता है या डाइविंग लाईसेंस के नियमों का उल्ल्ंघन करता है तो उस स्थिति में उसे 1,00,000 तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है. 
  • अगर किसी को तेज गाड़ी चलाने का शौक है तो उसे 1000 से 2000 तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है. 
  • अगर कोई नाबालिग है और गाड़ी को तेज चलाता दिखाई पकडा जाता है तो उस पर  25,000 तक का जुर्माना लगाया जाएगा. नाबालिग की 25 साल की उम्र तक उसका लाईसेंस नहीं बनाया जाएगा. 
  • अगर कोई स्पीड क्रॉस करता है या किसी जम्प पर गाड़ी को तेज चलता है, या आबादी क्षेत्रों मे गाड़ी स्पीड लिमिट से बाहर चलाता है तो उस स्थिति में उस ड्राइवर को काफी ज्यादा जुर्माना भरना पड़ सकता है. 

मोटर वाहन अधिनियम 1989 में संसोधन

1989 में बने मोटर वाहन अधिनियम में एक बार फिर बड़ा संशोधन किया गया है. इस अधिनियम में जो भी संशोधन हुए है वो 1 अक्टूबर 2020 से लागू होगा. काफी नए बदलावों के साथ इस अधिनियम को लागू किया जा रहा है.

इन नये नियमों के अनुसार अगर आपके पास डॉक्यूमेंट की कॉपी आपके पास नहीं है तो इसमें कोई दिक्कत नहीं है आप अपने मोबाइल में उनकी फोटो खींच कर भी रख सकते है और जरूरत पड़ने पर दिखा सकते है.

इस अधिनियम में किये गये संशोधनों की सूची इस प्रकार है

  • दस्तावेजों का सत्यापन – नये नियमों के अनुसार अब अगर आपके पास दस्तावेज साथ नही है तो आपको चिंता करने की जरूरत नही है. अब आप उन दस्तावेजों की फोटो अपने मोबाइल में भी रख सकेंगे और जरूरत पड़ने पर दिखा सकेंगे. 
  • अधिकारी की पहचान – जो भी अधिकारी वाहन चालकों की चेकिंग करता है उसकी पहचान पोर्टल पर दी जाएगी जिससे सही अधिकारी की पहचान की जा सके. 
  • वाहन निरीक्षण – नये नियमों के तहत जब भी किसी वाहन का निरीक्षण का किया जाएगा तो उसका पूरा रिकॉर्ड पोर्टल पर अपडेट किया जाएगा अगर किसी स्थिति में ड्राइवर का ड्राइविंग लाइसेंस रद्द होता है तो उसे ऑनलाइन पोर्टल पर रिपोर्ट दर्ज कराना होगा. 
  • ई-चालान – इन नए नियमों के अनुसार अब वाहनों का ई-चालान किया जाएगा. अगर कोई ट्रैफिक नियम तोड़ता है तो उस स्थिति में उसका ऑनलाइन चालान किया जाएगा. चालान की कॉपी घर भेज दी जाएगी. 
  • डिजी लॉकर की सुविधा – नये नियमों में डिजी लॉकर की सुविधा भी दी गई है. इन नए नियमों के अनुसार अब आप अपने दस्तावेज सरकारी ऑनलाइन लॉकर में रख सकते है. इसमें आपको उनको हमेशा साथ रखने की समस्या नहीं होगी. 

नये ट्रफिक नियम के उद्देश्य 

देश मे लागू इन नए नियमों का उद्देश्य का तात्पर्य उन लोगो से है जो ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करते है, उनको सही रास्ते पर लाने के लिए है. .

नियमों के पालन नहीं करने की वजह से कई घटनाएं होती है जिनको रोकने का यह एक प्रयास है. इन नए नियमों के अनुसार अगर कोई ट्रैफिक नियम तोड़ता है तो उसे भारी हर्जाना भरना पड़ सकता है.

ऐसा अनुमान है की इन नए नियमों से हादसों में कमी आएगी. 

इस प्रकार होंगे नये नियम के चालान

अपराध पहले चालान या जुर्माना अब चालान या जुर्माना
सामान्य (177) 100 रूपये 500 रूपये
रेड रेगुलेशन नियम का उल्लंघन (177A) 100 रूपये 500 रूपये
अथॉरिटी के आदेश की अवहेलना (179) 500 रूपये 2000रूपये
अनधिकृत गाड़ी बिना लाइसेंस चलाना (180) 1000रूपये 5000 रूपये
अयोग्यता के बावजूद ड्राइविंग (182) 500 रूपये 10000 रूपये
बिना लाइसेंस के गाड़ी चलाना (181) 500रूपये 5000 रूपये
ओवर साइज वाहन (182B)   5000 रुपये
ओवर स्पीडिंग (183)     400 रूपये 1000 रूपये
खतरनाक तरीके से गाड़ी चलाना(184) 1000 रूपये 5000 रूपये
शराब पीकर गाड़ी चलाना (185) 2000रूपये 10000 रूपये
काफी तेज गति से गाड़ी चलाकर नियम तोडना (189) 500 रूपये 5000 रूपये
ओवरलोडिंग (194) 2  हजार रुपये और 10000 रुपये प्रति टन अतिरिक्त 20 हजार रुपये और 2 हज़ार रुपये प्रति टन
सीट बेल्ट (194B) 100 रूपये 1000 रूपये
बिना पर्मिट के गाड़ी चलाना (192A) 5 हजार रुपये तक 10 हज़ार रुपये तक
लाइसेंस कंडीशन का उल्लंघन (193) कुछ भी नहीं 25 हजार रुपये से 1 लाख रुपये तक
पैसेंजर की ओवरलोडिंग (194A) कुछ भी नहीं 1000 रुपये प्रति पेसेंजर
दोपहिया वाहन पर पर हद से ज्यादा ओवरलोडिंग 100 रूपये 2 हजार रुपये का आर्थिक योजना और तीन महीने के लिए लाइसेंस रद्द
गाडी चलाते समय हेलमेट न पहनने पर 100 रूपये 1000 रुपये और तीन महीने के लिए लाइसेंस  रद्द
एम्बुलेंस या इमरजेंसी वाहन को रास्ता न देने पर (194E) कुछ भी नहीं 10000 रुपये
बिना इंश्योरेंस के गाड़ी चलाने पर (196) 1000 रुपये 2000 रुपये
दस्तावेजों को लगाने की अधिकारियों की शक्ति   (206)  कुछ भी नहीं 183,184,185,189,190,194c,194D 194E इन सभी नियमों के अनुसार के तहत ड्राइविंग लाइसेंस को रद्द किया जायेगा
अधिकारियों को लागू करने से किये गए अपराध (210B) कुछ भी नहीं सम्बंधित अनुभाग के तहत दो बार जुर्माना

ट्रेफिक नियम

इन ट्रैफिक नियम को आपको फॉलो करना चाहिए ताकि आपको चालान न भरना पडे. 

  • आते जाते समय अपने वाहन की पार्किंग का ध्यान रखे और सही जगह पर ही पार्क करें. 
  • सड़क पर ड्राइव करते समय कभी भी ओवेरटेक ना करे. लगातार हॉर्न का उपयोग करें ताकि आपको साइड मिल सके और आप निकल सके. 
  • एक तरफा रोड और अपनी साइड का ध्यान रखें. 
  • ट्रैफिक नियम के अनुशासन को हमेशा फॉलो करे. 
  • गाडी मोडते समय यू टर्न ध्यान से ले. 
  • अन्य वाहन के हाथ सिग्नल पर नजर डाले. 
  • यातायात संकेत और यातायात नीति के तहत ही ड्राइव करे. 
  • अपने वाहन की गति पर नियंत्रण रखें.

यातायात की संकेतों के नियम

जब भी आप गली चौराहे पर गाड़ी चलाते है तो उस समय आपको को हर चौराहे पर कुछ संकेत मिलते है उनको आपको फाॅलो करना होता है 

  • लाल कलर की बत्ती – लाल कलर की बत्ती का अर्थ होता है रुकना – अगर आपको चौराहे पर कही लाल बत्ती देखे तो इसका मतलब होता है की आपको वहां पर रुकना है. अगर आप लाल बत्ती में चलते है इसका मतलब यह है की इसमें आपका चालान कट सकता है. 
  • पीली बत्ती – अगर आपको पीले कलर की बत्ती किसी ट्रैफिक सिग्नल पर दिख जायेगा तो इसका मतलब होता है की आपको अब चलने के लिए तैयार हो जाना है. 
  • हरी बत्ती – हरे कलर का मतलब होता है आगे बढ़ना. अगर आपको हरे कलर की बत्ती दिख जाये तो इसका मतलब होता की आप अब चल सकते है. 

विषय से सम्बंधित सवाल जवाब

1.भारत में नये यातायात नियम कब लागू किये गये ?

Ans. भारत में ने यातायात नियम साल 2019 में लागू किया गये थे जिसके बाद से यह नियम लागू है. 

2. यातायात नियमों पीली कलर की बत्ती का मतलब क्या होता है?

Ans. भारत में यातायात नियमों के अनुसार आपको आगे चलने के लिए तैयार होना होता है.

3. यातायात नियमों को कौन जारी करता है ?

Ans. भारत में यातायात नियम भारत का परिवहन विभाग जारी करता है. 

4. भारत में यातायात नियमों के अनुसार लाइसेंस बनाने के लिए कम से कम कितनी उम्र होनी चाहिए?

Ans. भारत में यातायात नियमों के अनुसार आवेदक की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए. 

5. ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर क्या होता है ?

Ans. अगर आप भारत में यातायात नियमों का उल्लंघन करते है तो इस स्थिति में आपको भारी हो जाना चुकाना पड़ सकता है.

निष्कर्ष

सड़क पर चलने से पहले इसके हर नियम को भलीभांति जानना काफी जरुरी है. अगर आप बिना नियम जाने सड़क पर उतारते हैं तो आपको विभिन्नप्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

तो अगर आप चाहते हैं की पूरी जानकारी के साथ यात्रा और ड्राइविंग कर सके उसके लिए ये जानना जरुरी है की भारत में यातायात के नियम क्या हैं “(Traffic rules in hindi)?

इस आर्टिकल में भारत के नये यातायात ट्रैफिक नियमों के बारे में बताया गया है. यहाँ बताई गई जानकारी पूरी तरीके से ऑनलाइन पर रिसर्च के आधार पर बताई गई है.

उम्मीद करते है आपको यह लेख पसंद आया होगा.