बैंक में कैशियर कैसे बने? bitcoin4buying

आप बैंक जाते होंगे तो वहां पर केशियर को जरूर देखा होगा और अगर उसी पद पर काम करना चाहते और जानना चाहते हैं की बैंक में कैशियर कैसे बने और केशियर की सैलरी कितनी होती है? तो ये आर्टिकल जरूर पढ़ें. 

भारत में सरकारी तथा प्राइवेट दोनों प्रकार की बैंक उपलब्ध है इन बैंकों में कई प्रकार की नौकरी का वैकेंसी जारी की जाती है जिसमें सबसे उच्चतम पद कैशियर की होती है. 

बैंक में कैशियर बनने का तरीका 

बैंक में कई प्रकार की नौकरियां प्रोवाइड की जाती है जिसमें कैसियर भी एक महत्वपूर्ण पद है इसलिए कई उम्मीदवार कैसियर बनने के लिए आवेदन करते हैं.

कैसियर का पद बैंक में सबसे उच्चतम पद माना जाता है क्योंकि बैंक में अनेक प्रकार के पद होते हैं लेकिन यह पद सभी पदों की अपेक्षा महत्वपूर्ण होती है.

कैशियर बनने के लिए विद्यार्थियों को बहुत ही मेहनत करने की आवश्यकता होती है क्योंकि इसकी कोर्स बहुत ही कठिन होती है जिसको अत्यधिक प्रयासों के बाद समझा जा सकता है.

इसलिए उम्मीदवार इस नौकरी की परीक्षा के लिए कड़ी मेहनत और लगन के साथ साथ ईमानदारी पूर्वक इसके कोर्स की पढ़ाई करते हैं.

जब अभ्यर्थी आईबीपीएस की परीक्षा देते हैं तब उनका चयन कैसियर पद में होता है लेकिन इस आईबीपीएस की परीक्षा के पहले उन्हें अनेक प्रकार की परीक्षाओं में सफल होना पड़ता है.

यह नौकरी प्राइवेट सेक्टर के साथ-साथ सरकारी सेक्टर में भी की जाती है लेकिन लगभग विद्यार्थी सरकारी नौकरी को पाने के लिए इच्छुक रहते हैं इसलिए प्राइवेट सेक्टर को न चुनकर सरकारी सेक्टर के इस पद की तैयारी मेहनत पूर्वक करते हैं.

ताकि उनका चयन सरकारी बैंक के कैशियर पद में हो सके. सरकारी नौकरी  का आज की जनरेशन में बहुत बहुत ही महत्व है इसलिए सभी विद्यार्थी सरकारी नौकरी को पाने की इच्छा रखते हैं.

जब उम्मीदवार आईबीपीएस की परीक्षा पास करते हैं तो कई बैंकों में डायरेक्ट कैशियर का पद प्रदान किया जाता है तो कई ऐसे बैंक है जिसमें पहले क्लर्क बनाया जाता है और उसके कुछ समय बाद उन्हें कैसियर के पद में नियुक्त किया जाता है.

बैंक में केसियर बनने के लिए आवेदन कैसे करें?

यदि आप भी बैंक में कैशियर बनने की चाहत रखते तो आप इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

आप इसे आधिकारिक वेबसाइट के जरिए भी आवेदन कर सकते हैं या फिर किसी नजदीकी संस्था में जाकर आवश्यक डॉक्यूमेंट को सबमिट करने के दौरान आवेदन करा सकते हैं.

इस नौकरी की वैकेंसी फरवरी तथा मार्च महीने में जारी की जाती है जिसमें हजारों हजार विद्यार्थी आवेदन करते हैं इसके पश्चात इस  परीक्षा के लिए पढ़ाई करना शुरू करते हैं.

आप इस वैकेंसी की जानकारी समाचार पत्रों न्यूज़ चैनल तथा अन्य प्रकार के समाचार पत्र से प्राप्त कर सकते हैं.

शैक्षणिक योग्यता:- 

कैसियर पद बहुत ही महत्वपूर्ण पदों में से एक है जिसे पाना लगभग सभी विद्यार्थियों की सपना होती है इसलिए कई उम्मीदवार इस परीक्षा की तैयारी मेहनत और लगन के साथ करते हैं.

यदि आप भी कैसियर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आवेदन तभी कर सकते हैं जब आप किसी भी ऑनर्स पेपर के साथ 60% से स्नातक डिग्री प्राप्त किए हैं अन्यथा नहीं. 

इसके साथ-साथ आपको कंप्यूटर से संबंधित कई महत्वपूर्ण जानकारी जानने होगी तथा अपने स्थानीय भाषा के साथ साथ इंग्लिश भाषा में भी पकड़ अच्छी रखनी होगी.

यदि आप में इन सभी योग्यता शामिल है तभी आप इस पद के लिए आवेदन कर सकते हैं. इस महत्वपूर्ण पद के लिए योग्य उम्मीदवार ही आवेदन कर सकते हैं.

आयुसीमा :- 

कैसियर की परीक्षा में वही अभ्यर्थी आवेदन कर सकते है जिसकी आयु सीमा 21 वर्ष से 30 वर्ष के बीच में हो. इस पद के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु 30 वर्ष तक होनी चाहिए तभी योग्य उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं अन्यथा नहीं. 

आरक्षित वर्गों के उम्मीदवारों के लिए सरकार के द्वारा आयु सीमा में कुछ वर्षों की छूट दी जाती है जिसने वे आवेदन कर सकते हैं.

चयन प्रक्रिया:- 

बैंक के इस परीक्षा में 3 चरणों में विद्यार्थियों के द्वारा परीक्षाएं ली जाती है जिस में सफल होने के पश्चात ही इनकी नौकरी बैंक में लगती है.

इस परीक्षा के मुख्यतः तीन चरण होते हैं जो निम्नलिखित हैं:- 

  1. Preliminary Exams (प्रीलिम्स परीक्षा)
  2. Mains Examination (मुख्य परीक्षा)
  3. Interview (इंटरव्यू)

1.  Preliminary Exams (प्रीलिम्स परीक्षा)

प्रिंस परीक्षा को प्राथमिक परीक्षा के नाम से भी जाना जाता है और इसमें आवेदन किए हुए हर एक उम्मीदवार बैठ सकते हैं.

यह परीक्षा मुख्यता 1 घंटे की होती है जिसमें 100 मार्क्स के प्रश्न पूछे जाते हैं, इस प्राथमिक परीक्षा में ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन आता है जिसे विद्यार्थियों को 1 घंटे में देनी होती है.

2.  Mains Examination (मुख्य परीक्षा)

मेंस को दूसरे शब्दों में द्वितीय परीक्षा भी कहा जाता है जिसने वही उम्मीदवार बैठ सकते हैं जो बैलेंस एग्जाम को पास किए हैं.

यह थ्योरी जाम होती है जिसे लिखित एग्जाम भी कहा जाता है. इसमें अभ्यर्थी को 3 घंटे का समय दिया जाता है जिसमें वह अपने सारे प्रश्न निश्चित समय के अंतर्गत बना सके. मेंस एग्जाम 200 मार्क्स के होते हैं.

 3. Interview (इंटरव्यू) 

इन दोनों परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने के पश्चात अभ्यर्थी को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है जिसमें अधिकारियों के द्वारा इनकी पर्सनैलिटी टेस्ट के साथ-साथ अन्य सवालों को भी पूछा जाता है. 

अधिकारी उम्मीदवारों से उनके ऑनर्स पेपर से संबंधित प्रश्न भी पूछा करते हैं.

इन सभी परीक्षाओं के पश्चात मेंस एग्जाम और इंटरव्यू मिलाए गए मार्क्स के आधार पर एक मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है और उम्मीदवारों का चयन किया जाता है जो उम्मीदवार चयन प्रक्रिया में पास होते हैं उन्हें इन का पद नियुक्त किया जाता है.

बैंक के कैसियर का कार्य क्या होता है?

एक बैंक कैसियर बैंक का एक जिम्मेदार कर्मचारी होता है जो सभी कर्मचारियों के जैसा अपने काम में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. 

वे सुबह 10:00 बजे बैंक में प्रवेश करते हैं और शाम 5:00 बजे तक बैंक में कार्य करते हैं इनके बीच में उन्हें एक घंटा का ब्रेक मिलता है जिसमें लंच करते हैं.

एक बैंक कैशियर का अपना अलग एक केबिन होता है जिसमें एक कंप्यूटर, डेस्क टेबल, पैसा गिनने की मशीन तथा उनके सामने कांच के शीशे लगा रहता है जिसमें कुछ हॉल रहते हैं जिससे वे लोगों से पैसे का लेनदेन करते हैं.

एक कैशियर का कार्य ग्राहकों के साथ पैसों का लेनदेन करना होता है, जब किसी ग्राहक को पैसे निकालने होते हैं तो उनके द्वारा फॉर्म को लेकर वे पैसे निकालकर उन्हें देते हैं.

जब किसी ग्राहक को पैसे जमा करने होते हैं तो वे उनके द्वारा फॉर्म को लेकर उसमें लिखित पैसों को देते हैं और उनके नाम पर नेट में उतना पैसा उनके खाते से कटा है वह लिख देते हैं.

इस प्रकार एक बैंक के शेयर का कार्य बहुत ही जिम्मेदारी का कार्य होता है जिसे वे महत्वपूर्ण तरीके से करते हैं.

इस परीक्षा के कोर्स:-

प्रीलिम्स एक्जाम तथा मेंस एग्जाम में काफी कोर्स समान रहते हैं और कुछ कुछ अलग कोर्स भी दिए जाते हैं.

प्रीलिम्स एग्जाम में प्रश्न हंड्रेड मार्क्स के होते हैं जिसमें 100 क्वेश्चन पूछे जाते हैं और इन सभी प्रश्नों को प्राया: इंग्लिश मैथ तथा रीजनिंग सब्जेक्ट से पूछी जाती है जो ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन रहते हैं जिसे विद्यार्थियों को एक घंटा के अंदर बनाना होता है.

अब बात आती है मेंस एग्जाम की एग्जाम में 190 प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें विद्यार्थियों को 2 घंटे का समय दिया जाता है, इस परीक्षा में कई विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं जैसे मैथमेटिक्स ,कंप्यूटर, रिजनिंग, जनरल अवेयरनेस तथा इंग्लिश.

बैंक केशियर की तैयारी कैसे करें?

टाइम टेबल:- 

जो उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए आवेदन किए हैं उन्हें अपने परीक्षा की तैयारी टाइम टेबल के अनुसार करनी चाहिए क्योंकि जब तक आप अपनी पढ़ाई के टाइम को मैनेज नहीं करते तब तक आप अपने कोर्सों को अच्छे पूर्वक नहीं पढ़ सकते हैं.

इसलिए सिलेबस को आसानी से कंप्लीट करने के लिए आपको टाइम टेबल के अनुसार अपने हर विषयों की पढ़ाई करनी चाहिए.

यह एग्जाम थोड़ा कठिन होता है इसलिए इसमें काफी मेहनत करने की आवश्यकता होती है. जब आप टाइम टेबल के अनुसार इस परीक्षा के सभी विषयों की पढ़ाई करते हो तो आपका पकड़ हर विषय में अच्छा बनता है जिससे आपके एग्जाम भी अच्छे पूर्वक जाती  है.

विद्यार्थियों को अपने कमजोर विश्व में ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है क्योंकि कई स्टूडेंट अक्सर इंटरेस्टेड रिसीव की तरफ ज्यादा आकर्षित रहते हैं.

इस दौरान वे अपने कमजोर विषय को नजरअंदाज कर देते हैं जिससे उनका मार्क्स अच्छा नहीं आता इसलिए अपने अन्य विषयों की अपेक्षा कमजोर विषय में ज्यादा ध्यान देना अनिवार्य है.

सिलेबस को समझें:- 

एग्जाम की अच्छी तैयारी के लिए हर एक अभ्यर्थी को अपने परीक्षा की सिलेबस की जानकारी होना आवश्यक है क्योंकि जब आपको सिलेबस पता होगी तभी आप अपने परीक्षा की तैयारी आसानी पूर्वक करने में सक्षम होंगे.   

क्योंकि सिलेबस को जानने के बाद पता चलता है कि कौन से विषय से कितने मार्क्स के प्रश्न पूछे जाते हैं और कौन से विषय में किस-किस टॉपिक को पढ़ना रहता है. 

इसलिए हर एक उम्मीदवार को अपने सिलेबस की जानकारी रखनी चाहिए.

इंग्लिश भाषा में अच्छी पकड़ बनाएं:- 

यदि आप बैंक में काम करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको अन्य भाषाओं की अपेक्षा इंग्लिश भाषा में ज्यादा ध्यान देना चाहिए. 

क्योंकि बैंक में अक्सर इंग्लिश भाषा का प्रयोग अधिकतर किया जाता है इसलिए जहां तक संभव हो अपने इंग्लिश को ऊंचे स्तर तक रखने का प्रयास करें

जब आपकी इंग्लिश अच्छी होगी तो आप बैंक में फ्लूएंट इंग्लिश बोल कर अपनी पर्सनालिटी और काम को अच्छी पूर्वक प्रदर्शित कर सकते हैं.

करंट अफेयर

करंट अफेयर की जानकारी प्रत्येक दिन ले क्योंकि करंट अफेयर से संबंधित बहुत से सवाल प्रीलिम्स परीक्षा के साथ-साथ इंटरव्यू में भी पूछा जाता है. 

यदि आपका जनरल नॉलेज और करंट अफेयर में पकड़ अच्छा होगा तभी आप पूछे गए प्रश्नों का जवाब देने में सक्षम हो पाएंगे. 

इसलिए हर एक विद्यार्थी को बुक तथा फोन के माध्यम से जनरल नॉलेज की जानकारी रखनी चाहिए.

इन सभी के साथ-साथ आपको प्रत्येक दिन के समाचार पत्र और टीवी में दिखाए गए न्यूज़ को देखनी चाहिए और हर जगह के समाचार की जानकारी को जानना चाहिए.

कंप्यूटर की जानकारी ले:- 

कैसियर पद को हासिल करने के लिए उम्मीदवारों को कंप्यूटर की जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि इनका कार्य कंप्यूटर के माध्यम से ही किया जाता है.

जिसने भी पैसों का भुगतान ऑनलाइन या इंटरनेट के माध्यम से करते हैं इसलिए उम्मीदवारों को कंप्यूटर की जानकारी होना आवश्यक है. 

जब आप इस इस परीक्षा की तैयारी कर रहे होते हैं तो उसके पहले आपको कंप्यूटर का ज्ञान अर्जित कर लेना चाहिए.

सैलरी:- 

उम्मीदवारों का चयन जब किया जाता है तब उन्हें उनके पद नियुक्त किए जाते हैं इस दौरान शुरुआती महीने में उन्हें प्राइवेट बैंक में 15000 दिए जाते हैं वही सरकारी बैंक में एक कैशियर की शुरुआती सैलरी ₹25000 होती है.

जैसे जैसे उनका एक्सप्रेस बढ़ता है वैसे वैसे उनकी सैलरी भी बढ़ा दी जाती है.

निष्कर्ष 

बैंक में कैशियर बनना लगभग विद्यार्थियों की सपना होती है और सभी विद्यार्थी सरकारी बैंक में कैशियर बनना चाहते हैं क्योंकि सरकारी नौकरी की महत्व इस समाज में बहुत ही ज्यादा है. 

आज इस आर्टिकल के माध्यम से बैंक में कैशियर कैसे बने? इसके अंतर्गत आने वाले सारी जानकारी को विस्तार पूर्वक बताया है.

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो आप अपने दोस्तों में जरुर शेयर करें.